श्री लक्ष्मी चालीसा ( Shri Lakshmi Chalisa ) Laxmi Chalisa

श्री लक्ष्मी चालीसा, Shri Lakshmi Chalisa, Laxmi Chalisa, Shri Lakshmi Chalisa ke Fayde, Shri Lakshmi Chalisa Ke Labh, Shri Lakshmi Chalisa Benefits, Shri Lakshmi Chalisa Pdf, Shri Lakshmi Chalisa in Hindi, Shri Lakshmi Chalisa Lyrics. 

श्री लक्ष्मी चालीसा || Shri Lakshmi Chalisa || Laxmi Chalisa

श्री लक्ष्मी चालीसा माँ देवी लक्ष्मी जी को समर्पित हैं ! श्री लक्ष्मी चालीसा करने से धन की प्राप्ति होती है और कहा जाता है की अगर लक्ष्मी रुष्ट हो जाएं, और घोर दरिद्रता का सामना करना पड़ रहा हो तो श्री लक्ष्मी चालीसा का पाठ करने से लक्ष्मी को प्रसन्न किया जा सकता हैं ! श्री लक्ष्मी चालीसा करने साधक को यात्रा, निवेश व नौकरी मनोनुकूल लाभ और उन्नति होती हैं !! जय श्री सीताराम !! जय श्री हनुमान !! जय श्री दुर्गा माँ !! यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट ( Live Chat ) से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें : 7821878500 Shri Lakshmi Chalisa By Acharya Pandit Lalit Trivedi

श्री लक्ष्मी चालीसा || Shri Lakshmi Chalisa || Laxmi Chalisa

॥ दोहा॥

मातु लक्ष्मी करि कृपा, करो हृदय में वास।
मनोकामना सिद्घ करि, परुवहु मेरी आस॥

॥ सोरठा॥

यही मोर अरदास, हाथ जोड़ विनती करुं।
सब विधि करौ सुवास, जय जननि जगदंबिका॥

॥ चौपाई ॥

सिन्धु सुता मैं सुमिरौ तोही।
ज्ञान बुद्घि विघा दो मोही ॥

तुम समान नहिं कोई उपकारी। सब विधि पुरवहु आस हमारी॥
जय जय जगत जननि जगदम्बा। सबकी तुम ही हो अवलम्बा॥1॥

तुम ही हो सब घट घट वासी। विनती यही हमारी खासी॥
जगजननी जय सिन्धु कुमारी। दीनन की तुम हो हितकारी॥2॥

विनवौं नित्य तुमहिं महारानी। कृपा करौ जग जननि भवानी॥
केहि विधि स्तुति करौं तिहारी। सुधि लीजै अपराध बिसारी॥3॥

कृपा दृष्टि चितववो मम ओरी। जगजननी विनती सुन मोरी॥
ज्ञान बुद्घि जय सुख की दाता। संकट हरो हमारी माता॥4॥

क्षीरसिन्धु जब विष्णु मथायो। चौदह रत्न सिन्धु में पायो॥
चौदह रत्न में तुम सुखरासी। सेवा कियो प्रभु बनि दासी॥5॥

जब जब जन्म जहां प्रभु लीन्हा। रुप बदल तहं सेवा कीन्हा॥
स्वयं विष्णु जब नर तनु धारा। लीन्हेउ अवधपुरी अवतारा॥6॥

तब तुम प्रगट जनकपुर माहीं। सेवा कियो हृदय पुलकाहीं॥
अपनाया तोहि अन्तर्यामी। विश्व विदित त्रिभुवन की स्वामी॥7॥

तुम सम प्रबल शक्ति नहीं आनी। कहं लौ महिमा कहौं बखानी॥
मन क्रम वचन करै सेवकाई। मन इच्छित वांछित फल पाई॥8॥

तजि छल कपट और चतुराई। पूजहिं विविध भांति मनलाई॥
और हाल मैं कहौं बुझाई। जो यह पाठ करै मन लाई॥9॥

ताको कोई कष्ट नोई। मन इच्छित पावै फल सोई॥
त्राहि त्राहि जय दुःख निवारिणि। त्रिविध ताप भव बंधन हारिणी॥10॥

हमारे Youtube चैनल को अभी SUBSCRIBES करें ||

मांगलिक दोष निवारण || Mangal Dosha Nivaran

दी गई YouTube Video पर क्लिक करके मांगलिक दोष के उपाय || Manglik Dosh Ke Upay बहुत आसन तरीके से सुन ओर देख सकोगें !

जो चालीसा पढ़ै पढ़ावै। ध्यान लगाकर सुनै सुनावै॥
ताकौ कोई न रोग सतावै। पुत्र आदि धन सम्पत्ति पावै॥11॥

पुत्रहीन अरु संपति हीना। अन्ध बधिर कोढ़ी अति दीना॥
विप्र बोलाय कै पाठ करावै। शंका दिल में कभी न लावै॥12॥

पाठ करावै दिन चालीसा। ता पर कृपा करैं गौरीसा॥
सुख सम्पत्ति बहुत सी पावै। कमी नहीं काहू की आवै॥13॥

बारह मास करै जो पूजा। तेहि सम धन्य और नहिं दूजा॥
प्रतिदिन पाठ करै मन माही। उन सम कोइ जग में कहुं नाहीं॥14॥

बहुविधि क्या मैं करौं बड़ाई। लेय परीक्षा ध्यान लगाई॥
करि विश्वास करै व्रत नेमा। होय सिद्घ उपजै उर प्रेमा॥15॥

जय जय जय लक्ष्मी भवानी। सब में व्यापित हो गुण खानी॥
तुम्हरो तेज प्रबल जग माहीं। तुम सम कोउ दयालु कहुं नाहिं॥16॥

मोहि अनाथ की सुधि अब लीजै। संकट काटि भक्ति मोहि दीजै॥
भूल चूक करि क्षमा हमारी। दर्शन दजै दशा निहारी॥17॥

बिन दर्शन व्याकुल अधिकारी। तुमहि अछत दुःख सहते भारी॥
नहिं मोहिं ज्ञान बुद्घि है तन में। सब जानत हो अपने मन में॥18॥

रुप चतुर्भुज करके धारण। कष्ट मोर अब करहु निवारण॥
केहि प्रकार मैं करौं बड़ाई। ज्ञान बुद्घि मोहि नहिं अधिकाई॥19॥

॥ दोहा॥

त्राहि त्राहि दुख हारिणी, हरो वेगि सब त्रास।
जयति जयति जय लक्ष्मी, करो शत्रु को नाश॥
रामदास धरि ध्यान नित, विनय करत कर जोर।
मातु लक्ष्मी दास पर, करहु दया की कोर॥

<<< पिछला पेज पढ़ें                                                                                                                      अगला पेज पढ़ें >>>


नोट : ज्योतिष सम्बन्धित व् वास्तु सम्बन्धित समस्या से परेशान हो तो ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 7821878500 ( Paid Services )

Related Post :

दिवाली लक्ष्मी पूजन मुहूर्त || Diwali Lakshmi Pujan Muhurat

दिवाली पूजा विधि || Diwali Puja Vidhi

दीपावली पर लक्ष्मी पूजा विधि || Deepawali Par Lakshmi Puja Vidhi

दिवाली के मंत्र || Diwali Ke Mantra

माँ लक्ष्मी मंत्र || Maa Lakshmi Mantra

दीपावली के उपाय || Deepawali Ke Upay

दिवाली के दिन के उपाय || Diwali Ke Din Ke Upay

दीपावली की रात के उपाय || Deepawali Ki Raat Ke Upay

दीपावली के धन प्राप्ति के उपाय || Deepawali Ke Dhan Prapti Ke Upay

दीपावली के लक्ष्मी प्राप्ति के उपाय || Deepawali Ke Lakshmi Prapti Ke Upay

दीपावली के व्यापार वृद्धि के उपाय || Deepawali Ke Vyapar Vridhi Ke Upay

दीपावली के कर्ज मुक्ति के उपाय || Deepawali Ke Karz Mukti Ke Upay

दिवाली पर लक्ष्मी को प्रसन्न करने के उपाय || Diwali Par Lakshmi Ko Prasann Karne Ke Upay

राशि अनुसार दीपावली के लक्ष्मी प्राप्ति उपाय || Rashi Anusar Deepawali Ke Lakshmi Prapti Upay

राशि अनुसार दीपावली के उपाय || Rashi Anusar Deepawali Ke Upay

वास्तु अनुसार दिवाली मनाये || Vastu Anusar Diwali Manaye

श्री लक्ष्मी ध्यानम् || Sri Lakshmi Dhyanam

श्री लक्ष्मी स्तुति || Shri Lakshmi Stuti

श्री महालक्ष्मी स्तुति || Shri Mahalaxmi Stuti

श्रीसूक्त || Sri Suktam Stotra

श्री लक्ष्मी सूक्त || Shri Lakshmi Suktam

देवकृत श्री लक्ष्मी स्तव || Deva Kruta Sri Lakshmi Sthavam

श्री महालक्ष्मी स्तवम् || Shri Mahalaxmi Stavan

अष्टलक्ष्मी स्तोत्र || Ashta Lakshmi Stotra

श्री अष्टलक्ष्मी स्तोत्र || Shri Ashtalakshmi Stotram

श्री सिद्ध लक्ष्मी स्तोत्र || Shri Siddhi Lakshmi Stotram

श्री कनकधारा स्तोत्रम् || Shri Kanakdhara Stotram

श्री महालक्ष्मी हृदय स्तोत्र || Sri Maha Lakshmi Hrudaya Stotram

सर्व देव कृत लक्ष्मी स्तोत्र || Sarva Deva Krutha Lakshmi Stotram

श्री लक्ष्मी द्वादश नाम स्तोत्रम् || Sri Lakshmi Dwadasa Nama Stotram

श्री लक्ष्मी नारायण स्तोत्रम् || Shri Lakshmi Narayana Stotram

श्री लक्ष्मी हयवदन रत्नमाला स्तोत्रम् || Shri Lakshmi Hayavadana Ratnamala Stotram

श्री महालक्ष्मी अष्टक || Shri Mahalakshmi Ashtakam

श्री लक्ष्मी लहरी || Shri Lakshmi Lahari

श्री लक्ष्मी कवच || Shri Laxmi Kavacham

श्री लक्ष्मी कवच || Shri Lakshmi Kavacham

श्री महालक्ष्मी कवचम् || Shri Mahalaxmi Kavacham

श्री महालक्ष्मी कवचम् || Shri Mahalakshmi Kavacham

श्री लक्ष्मी अष्टोत्तर शतनामावली || Sri Lakshmi Ashtottara Shatanamavali

श्री लक्ष्मी अष्टोत्तर शतनामावली || Shri Laxmi Ashtottara Shatanamavali

श्री महालक्ष्मी अष्टोत्तर शतनामावली || Shri Mahalakshmi Ashtottara Shatanamavali

श्री लक्ष्मी अष्टोत्तर शतनाम स्तोत्रम् || Shri Laxmi Ashtottara Shatanamavali Stotram

श्री लक्ष्मी अष्टोत्तर शतनाम स्तोत्रम् || Shri Lakshmi Ashtottara Shatanamavali Stotram

श्री लक्ष्मी सहस्त्रनाम || Shri Lakshmi Sahasranamam

लक्ष्मी जी के 108 नाम || Lakshmi Ji Ke 108 Naam

श्री लक्ष्मी चालीसा || Shri Lakshmi Chalisa

श्री लक्ष्मी माता जी की आरती || Shri Lakshmi Mata Ji Ki Aarti

माँ लक्ष्मी देवी जी की आरती || Maa Lakshmi Devi Ji Ki Aarti

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *