श्री षोडशी अष्टोत्तर शतनाम स्तोत्रम् || Shodashi Ashtottara Shatanama Stotram

श्री षोडशी अष्टोत्तर शतनाम स्तोत्रम्, Shri Shodashi Ashtottara Shatanama Stotram, Shri Shodashi Ashtottara Shatanama Stotram Ke Fayde, Shri Shodashi Ashtottara Shatanama Stotram Ke Labh, Shri Shodashi Ashtottara Shatanama Stotram Benefits, Shri Shodashi Ashtottara Shatanama Stotram Pdf, Shri Shodashi Ashtottara Shatanama Stotram in Sanskrit, Shri Shodashi Ashtottara Shatanama Stotram Lyrics. 

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

नोट : यदि आप अपने जीवन में किसी कारण से परेशान चल रहे हो तो ज्योतिषी सलाह लेने के लिए अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 9667189678 ( Paid Services )

30 साल के फ़लादेश के साथ वैदिक जन्मकुंडली बनवाये केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : +91-9667189678

हर महीनें का राशिफल, व्रत, ज्योतिष उपाय, वास्तु जानकारी, मंत्र, तंत्र, साधना, पूजा पाठ विधि, पंचांग, मुहूर्त व योग आदि की जानकारी के लिए अभी हमारे Youtube Channel Pandit Lalit Trivedi को Subscribers करना नहीं भूलें, क्लिक करके अभी Subscribers करें : Click Here

श्री षोडशी अष्टोत्तर शतनाम स्तोत्रम् || Shodashi Ashtottara Shatanama Stotram

Shodashi Ashtottara Shatanama Stotram पढ़ने से साधक तंत्रो में उल्लेखित मारण, मोहन, वशीकरण, उच्चाटन, स्तम्भन आदि विधाएं प्राप्त हो जाती हैं ! साधक को शारीरिक रोग, मानसिक रोग और और अन्य रोग का भी भय नहीं रहता हैं ! साधक को अपने जीवन में धन, यश, आयु, भोग और मोक्ष आदि की प्राप्ति होती हैं !! जय श्री सीताराम !! जय श्री हनुमान !! जय श्री दुर्गा माँ !! यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट ( Live Chat ) से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें : 9667189678 Shri Shodashi Ashtottara Shatanama Stotram By Acharya Pandit Lalit Trivedi

श्री षोडशी अष्टोत्तर शतनाम स्तोत्रम् || Shodashi Ashtottara Shatanama Stotram

भृगुरुवाच –

चतुर्वक्त्र जगन्नाथ स्तोत्रं वद मयि प्रभो ।

यस्यानुष्ठानमात्रेण नरो भक्तिमवाप्नुयात् ॥ १॥

ब्रह्मोवाच –

सहस्रनाम्नामाकृष्य नाम्नामष्टोत्तरं शतम् ।

गुह्याद्गुह्यतरं गुह्यं सुन्दर्याः परिकीर्तितम् ॥ २॥

अस्य श्रीषोडश्यष्टोत्तरशतनामस्तोत्रस्य शम्भुरृषिः

अनुष्टुप् छन्दः श्रीषोडशी देवता धर्मार्थकाममोक्षसिद्धये

विनियोगः ॥

ॐ त्रिपुरा षोडशी माता त्र्यक्षरा त्रितया त्रयी ।

सुन्दरी सुमुखी सेव्या सामवेदपरायणा ॥ ३॥

शारदा शब्दनिलया सागरा सरिदम्बरा ।

शुद्धा शुद्धतनुस्साध्वी शिवध्यानपरायणा ॥ ४॥

स्वामिनी शम्भुवनिता शाम्भवी च सरस्वती ।

समुद्रमथिनी शीघ्रगामिनी शीघ्रसिद्धिदा ॥ ५॥

साधुसेव्या साधुगम्या साधुसन्तुष्टमानसा ।

खट्वाङ्गधारिणी खर्वा खड्गखर्परधारिणी ॥ ६॥

षड्वर्गभावरहिता षड्वर्गपरिचारिका ।

षड्वर्गा च षडङ्गा च षोढा षोडशवार्षिकी ॥ ७॥

क्रतुरूपा क्रतुमयी ऋभुक्षक्रतुमण्डिता ।

कवर्गादि पवर्गान्ता अन्तस्थानन्तरूपिणी ॥ ८॥

अकाराकाररहिता कालमृत्युजरापहा ।

तन्वी तत्त्वेश्वरी तारा त्रिवर्षा ज्ञानरूपिणी ॥ ९॥

काली कराली कामेशी छाया संज्ञाप्यरुन्धती ।

निर्विकल्पा महावेगा महोत्साहा महोदरी ॥ १०॥

मेघा बलाका विमला विमलज्ञानदायिनी ।

गौरी वसुन्धरा गोप्त्री गवाम्पतिनिषेविता ॥ ११॥

loading...

भगाङ्गा भगरूपा च भक्तिभावपरायणा ।

छिन्नमस्ता महाधूमा तथा धूम्रविभूषणा ॥ १२॥

धर्मकर्मादि रहिता धर्मकर्मपरायणा ।

सीता मातङ्गिनी मेधा मधुदैत्यविनाशिनी ॥ १३॥

भैरवी भुवना माताऽभयदा भवसुन्दरी ।

भावुका बगला कृत्या बाला त्रिपुरसुन्दरी ॥ १४॥

रोहिणी रेवती रम्या रम्भा रावणवन्दिता ।

शतयज्ञमयी सत्त्वा शतक्रतुवरप्रदा ॥ १५॥

शतचन्द्रानना देवी सहस्रादित्यसन्निभा ।

सोमसूर्याग्निनयना व्याघ्रचर्माम्बरावृता ॥ १६॥

अर्धेन्दुधारिणी मत्ता मदिरा मदिरेक्षणा ।

इति ते कथितं गोप्यं नाम्नामष्टोत्तरं शतम् ॥ १७॥

सुन्दर्याः सर्वदं सेव्यं महापातकनाशनम् ।

गोपनीयं गोपनीयं गोपनीयं कलौ युगे ॥ १८॥

सहस्रनामपाठस्य फलं यद्वै प्रकीर्तितम् ।

तस्मात्कोटिगुणं पुण्यं स्तवस्यास्य प्रकीर्तनात् ॥ १९॥

पठेत्सदा भक्तियुतो नरो यो निशीथकालेऽप्यरुणोदये वा ।

प्रदोषकाले नवमीदिनेऽथवा लभेत भोगान्परमाद्भुतान्प्रियान् ॥ २०॥

इति ब्रह्मयामले पूर्वखण्डे षोडश्यष्टोत्तरशतनामस्तोत्रं समाप्तम् ॥

<<< पिछला पेज पढ़ें                                                                                                                      अगला पेज पढ़ें >>>


यदि आपके जीवन में भी किसी भी तरह की परेशानी आ रही हो तो अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 9667189678 ( Paid Services )

यह पोस्ट आपको कैसी लगी Star Rating दे कर हमें जरुर बताये साथ में कमेंट करके अपनी राय जरुर लिखें धन्यवाद : Click Here

Related Post : 

माँ षोडशी त्रिपुर सुन्दरी साधना विधि || Shodashi Tripura Sundari Sadhana Vidhi

माँ षोडशी त्रिपुर सुन्दरी देवी मंत्र || Maa Shodashi Tripura Sundari Devi Mantra

माँ षोडशी त्रिपुर सुन्दरी स्तुति || Maa Shodashi Tripura Sundari Stuti

माँ षोडशी त्रिपुर सुन्दरी स्तोत्र || Maa Shodashi Tripura Sundari Stotra

माँ षोडशी त्रिपुर सुन्दरी कवच || Maa Shodashi Tripura Sundari Kavacham

श्री षोडशी त्रिपुर सुन्दरी अष्टकम || Shri Shodashi Tripura Sundari Ashtakam

त्रिपुर सुन्दरी वेद पाद स्तोत्रम् || Tripura Sundari Veda Pada Stotram

श्री त्रिपुर सुन्दरी वेदसार स्तोत्रम || Sri Tripurasundari Vedasara Stotram

त्रिपुर सुंदरी मानस पूजा स्तोत्र || Tripurasundari Manasa Puja Stotram

श्री षोडशी अष्टोत्तर शतनामावली || Shri Shodashi Ashtottara Shatanamavali

बाला त्रिपुर सुंदरी अष्टोत्तर शतनाम स्तोत्रम् || Shri Bala Tripura Sundari Ashtottara Shatanama Stotram

श्री त्रिपुर सुन्दरी विजयस्तवः || Sri Tripurasundari Vijaya Stavah

श्री त्रिपुर सुन्दरी सानिध्य स्तवन || Sri Tripurasundari Sannidhya Stavam

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *