My Blog

indiaplus.co.in

Piliya Ke Gharelu Nuskhe !! The Domestic Nuskhe Jaundice

पीलिया के घरेलू नुख्से [ The Domestic Nuskhe Jaundice ] :

यह सब आयुर्वेदिक उपाय और नुख्से है यदि आप पीलिया से परेशान हो तो दिए गए उपाय को हर दिन कीजिये ! पोस्ट को सही तरह से पढ़ पाये और सुन्दर भी लगे इसलिए इस पोस्ट को छोटी छोटी पोस्टो में बांटा गया है आगे के उपाए पढने के लिए नीचे क्लिक हियर [ CLICK HERE ] पर क्लिक [ CLICK ] करके आप इससे आगे के इसी रोग के उपाय पढ़ सकते हो !
IT NUKSE AYURVEDIC REMEDY AND THE REMEDY IF YOU HAVE JAUNDICE EVERY DAY UPSET ME! READ THE POST PROPERLY ENGAGED SO BEAUTIFUL THERE AND THIS POST IS DIVIDED INTO SMALL PÔSTO CLICK BELOW TO READ FURTHER MEASURES HERE [CLICK HERE] CLICK [CLICK] ON THIS DISEASE BY MEANS OF FURTHER READING CAN!
  • 5. मूली के हरे पत्ते पीलिया में अति उपादेय है। पत्ते पीसकर रस निकालकर छानकर पीना उत्तम है। इससे भूख बढेगी और आंतें साफ होंगी। 
  • 5. THE GREEN LEAVES OF RADISH IN JAUNDICE IS THE MOST VIABLE. GRIND THE LEAVES JUICE IS BETTER TO DRINK FILTERED. WILL INCREASE HUNGER AND BOWEL CLEAN.

[AdSense-B]

  • 6. एक केले का छिलका जरा-सा हटाकर उसमें 1 चने जितना भीगा हुआ चूना लगायें एवं रात भर ओस में रखें। सुबह उस केले का सेवन करने से पीलिया में लाभ होता है। 
  • 6. REMOVE THE BANANA PEEL SLIGHTLY MOIST LIME AND APPLY IT AS MUCH AS 1 GRAM AND KEEP OVERNIGHT DEW. MORNING BANANA INTAKE IS BENEFICIAL IN JAUNDICE.

[AdSense-A]

  • ध्यान देवें : पीलिया में केवल मूँग एवं चने ही आहार में लें। गन्ने को छीलकर एवं काटकर उसके टुकड़ों को ओस में रखकर सुबह खाने से पीलिया में लाभ होता है। 
  • AND GIVE ATTENTION JAUNDICE, MOONG AND GRAM ONLY MAKE THE DIET. PEEL AND CUT CANE IN HIS PIECES WITH MORNING DEW EATING IS BENEFICIAL IN JAUNDICE.
    • CONTINUE READ [ लगातार पढ़े ] : पीलिया के उपाय [ Jaundice Remedy ] : [AdSense-C]CLICK HERE
Updated: May 11, 2016 — 4:24 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

My Blog © 2016 Frontier Theme