My Blog

indiaplus.co.in

गर्दन दर्द के लक्षण !! Gardan Me Dard Ke Karan

  • गर्दन का दर्द [ Cervical Spondylosis ] : 

    • हमारे शरीर में रीढ़ की हड्डी में कुल मिलाकर 33 कशेरुकाएं होती हैं जिसमें 7 कशेरुकाएं गर्दन से सम्बन्धित होती हैं। इन कशेरुकाओं को सरवाइकल वर्टिबा कहते हैं। इन कशेरुकाओं से निकली वातनाड़ियां मस्तिष्क, आंख, नाक, कान, माथा, मुंह, दांत, तालु, जीभ, थाइरायड ग्रंथि तथा कुहनियों का संचालन करती हैं। इसलिए यदि गर्दन में कोई रोग हो जाता है तो इसका प्रभाव शरीर के सभी अंगों पर भी पड़ता है।

[AdSense-B]

  • गर्दन में दर्द के लक्षण : 

    • इस रोग के हो जाने पर गर्दन में अकड़न व दर्द होना शुरू हो जाता है। कुछ समय बाद गर्दन में धीरे-धीरे दर्द तथा अकड़न बढ़ती जाती है। इस रोग के कारण दर्द कभी कंधे व सिर व दोनों बाजुओं में शुरू हो जाता है। इस रोग के कारण रोगी की एक या दोनों बाजुओं में सुन्नता होने लगती है। जिसके कारण रोगी को सब्जी काटने या लिखने से कठिनाई महसूस होती है, सिर में चक्कर भी आने लगते हैं, हाथ पैरों की पकड़ कमजोर पड़ जाती है तथा गर्दन को इधर-उधर घुमाने में परेशानी होने लगती है। इस रोग के कारण रोगी को बेचैनी जैसी समस्याएं भी होने लगती हैं।

[AdSense-A]

  • गर्दन में दर्द के कारण : 

    • अपने भोजन में तली-भुनी, ठण्डी-बासी या मसालेदार पदार्थों का अधिक सेवन करने के कारण भी गर्दन में दर्द का रोग हो सकता है।
    • गर्दन में दर्द गलत तरीके से बैठने या खड़े रहने से भी हो जाता है जैसे-खड़े रहना या कूबड़ निकालकर बैठना।
    • भोजन में खनिज लवण तथा विटामिनों की कमी रहने के कारण भी गर्दन में दर्द की समस्या हो सकती है।
    • कब्ज बनने के कारण भी गर्दन में दर्द हो सकता है।
    • पाचनशक्ति में गड़बड़ी हो जाने के कारण गर्दन में दर्द का रोग हो सकता है।
    • अधिक चिंता, क्रोध, ईर्ष्या, शोक या मानसिक तनाव की वजह से भी गर्दन में दर्द हो सकता है।
    • किसी दुर्घटना आदि में किसी प्रकार से गर्दन पर चोट लग जाने के कारण भी गर्दन में दर्द का रोग हो सकता है।
    • अधिक शारीरिक कार्य करने के कारण गर्दन में दर्द हो सकता है।
    • मोटे गद्दे तथा नर्म गद्दे पर सोने के कारण गर्दन में दर्द हो सकता है।
    • गर्दन का अधिक कार्यो में इस्तेमाल करने के कारण गर्दन में दर्द हो सकता है।
    • अधिक देर तक झुककर कार्य करने से गर्दन में दर्द हो सकता है।
    • व्यायाम न करने के कारण भी गर्दन में दर्द हो सकता है।
    • अधिक दवाइयों का सेवन करने के कारण भी गर्दन में दर्द हो सकता है।
    • शारीरिक कार्य न करने के कारण भी यह रोग हो सकता है।
    • चिंता, क्रोध, मानसिक तनाव, ईर्ष्या तथा शोक आदि के कारण भी गर्दन में दर्द हो सकता है।
    • किसी दुर्घटना में गर्दन पर चोट लगने के कारण भी यह रोग हो सकता है।
  • आगे पढ़े : गर्दन दर्द के उपाय [ Cervical Spondylosis Remedy ] : [AdSense-C]CLICK HERE
  • आगे पढ़े : गर्दन में दर्द तथा अकड़न से बचने के लिए कुछ सावधानियां : CLICK HERE
Updated: March 11, 2016 — 1:50 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

My Blog © 2016 Frontier Theme