My Blog

indiaplus.co.in

गला बैठने के कारण !! Gala Baithna Ke Karan

  • गला बैठने के कारण [ Gala Baithna Ke Karan  ] : 

    • इस रोग में रोगी का गला बैठ जाता है जिसके कारण रोगी को बोलने में परेशानी होने लगती है तथा जब व्यक्ति बोलता है तो उसकी आवाज साफ नहीं निकलती है तथा उसकी आवाज बैठी-बैठी सी लगती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि स्वर नली के स्नायुओं पर किसी प्रकार के अनावश्यक दबाव पड़ने के कारण वे निर्बल पड़ जाती हैं। इस रोग के कारण रोगी की आवाज भारी होने लगती है तथा गले में खुश्की हो जाती है और कभी-कभी रोगी को सूखी खांसी और सांस लेने में परेशानी होने लगती है।

विज्ञापन :

यदि आप किसी रोग या किसी तरह की समस्या से परेशान चल रहे हो ज्योतिषी उपाय पाने के लिए क्लिक करें : Click Here

  • गला बैठने के कारण : 

    • अधिक गाना गाने, चीखने-चिल्लाने तथा जोर-जोर से भाषण देने से रोगी का गला बैठ जाता है।
    • ठंड लगने तथा सीलनयुक्त स्थान पर रहने के कारण गला बैठ सकता है।
    • ठंडी चीजों का भोजन में अधिक प्रयोग करने के कारण भी यह रोग सकता है।
    • शरीर के अन्दर किसी तरह का दूषित द्रव्य जमा हो जाने पर जब यह दूषित द्रव्य किसी तरह से हलक तक पहुंच जाता है तो गला बैठ जाता है।

गला बैठना के उपाय : Click Here

विज्ञापन :

यदि आप किसी रोग या किसी तरह की समस्या से परेशान चल रहे हो ज्योतिषी उपाय पाने के लिए क्लिक करें : Click Here

Updated: April 19, 2017 — 12:20 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

My Blog © 2016 Frontier Theme