दशहरे के उपाय ( Dussehra Ke Upay ) Dussehra Par Kare Ye Upay

दशहरे के उपाय, Dussehra Ke Upay, Dussehra Par Kare Ye Upay, Dussehra Ke Totke, Dussehra Ke Mantra, Dussehra Par Kya Kare, Dussehra Ke Din Ke Upay.

दशहरे के उपाय || Dussehra Ke Upay

Dussehra का उत्सव आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि मनाया जाता है इससे एक तिथि पहले नवरात्रा समापन होते है विजयदशमी यानि की दशहरे के दिन श्री राम ने रावण का वध किया था और इसी के साथ साथ माता श्री दुर्गा ने असुरों का विनाश करके देवता को अपना अधिकार दिलवाया था इसी कारन से यह उत्सव मनाया जाता है ! इस दिन रावण, मेघनाद व कुंभकर्ण का पुतला बनाकर उन्हें जलाने की परंपरा मुख्य रूप से सर्वत्र प्रचलित है। विजयदशमी यानि की दशहरे के दिन भगवान श्री राम, अस्त्र – शास्त्र और शमी के वृक्ष की पूजा करने का विधान है ! हम आपको शास्त्रोंनुसार विजयदशमी के दिन करने वाले कुछ विशेष उपाय बताने जा रहे है जिसे आपके द्वारा करने से निचिश्य ही लाभ प्राप्त मिलेगा ! Online Specialist Astrologer Acharya Pandit Lalit Trivedi द्वारा बताये जा रहे दशहरे के उपाय || Dussehra Ke Upay को करके आप भी आपने जीवन में सब तरह के भय, संकट से मुक्ति पा सकते हैं !! जय श्री सीताराम !! जय श्री हनुमान !! जय श्री दुर्गा माँ !! जय श्री मेरे पूज्यनीय माता – पिता जी !! यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट ( Live Chat ) से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें Mobile & Whats app Number : 7821878500 Dussehra Ke Upay By Acharya Pandit Lalit Trivedi

दशहरे के उपाय || Dussehra Ke Upay

  • Dussehra के वाले दिन छोटी छोटी पर्चियों पर ‘राम’ नाम लिख कर उन्हें आटे की अलग अलग और छोटी छोटी लोई में रखकर मछलियों को खिलाएं एसा करने से भगवान श्री राम की कृपा बनी रहेगी और आपका जीवन सुखमय होगा !
  • Dussehra के दिन सुहागन महिला सिंदूर खरीदकर सबसे पहले उसे देवी पार्वती की मांग में सजाएं, फिर उस प्रसाद को न‌ियम‌ित अपनी मांग में लगाएं एसा करने से उसके पति की उम्र लंबी होगी और दोनों के बीच प्रेम भावना बढ़ायेगी !
  • Dussehra के दिन अपने घर और किसी मंदिर पर लाल रंग का झंडा चढाने से आपको अपने जीवन में सफलता प्राप्त होती है !

  • माना जाता है की विजयदशमी के दिन सम्मोहन शक्त‌ि और वशीकरण शक्त‌ि बढ़ानी हो तो महाकाली का पूजन करने से पूर्व स‌ियारस‌िंगी पर स‌िंदूर चढाना चाहिए !
  • यदि आप अपने व्यापार में धन वृद्दि करना चाहते हो तो विजयदशमी के दिन से शुरू करते हुए लगातार 43 दिन तक बेसन के लड्डू कुत्ते को श्रदा पूर्वक खिलाने से आपके व्यापार में धन वृद्दि, धन में बरकत आदि होना लग जायेगा !
  • Dussehra वाले दिन से आने वाली शरद पूर्णिमा तक यदि चन्द्रमा की किरणों में प्रतिदिन रात्रि में 15 से 20 मिनट तक चंद्रमा को बिना पलकें झपकाये देखने से ( त्राटक ) आपके नेत्र विकार दूर हो जाते है और नेत्रों की ज्योति तेज़ होती है ! क्युकी इन रात्रि में चंद्रमा की किरणों में अमृत होता है जो की शरद पूर्णिमा की रात्रि तक होता है !

हमारे Youtube चैनल को अभी SUBSCRIBES करें ||

मांगलिक दोष निवारण || Mangal Dosha Nivaran

दी गई YouTube Video पर क्लिक करके मांगलिक दोष के उपाय || Manglik Dosh Ke Upay बहुत आसन तरीके से सुन ओर देख सकोगें !

  • Dussehra के दिन नागकेसर ( कालीमिर्च के सामान गोल, गेरू रंग का यह गोल फूल घुण्डीनुमा होता है और इसके दाने में डण्डी भी लगी होती है । इसके फूल गुच्छो में फूलता है, पकने पर गेरू रंग का हो जाता है। ) का पौधा ला कर अपने घर पर लगाये और इसकी देखभाल करे यह पौधा शिव जी का प्रिय होता है ऐसा करने से जैसे जैसे बढेगा वैसे वैसे आपके जीवन में उन्नति की प्राप्ति होगी !
  • विजयदशमी के दिन गुप्त दान करना चाहिए ऐसा करने से आपके कार्य में आ रही बाधा दूर हो जाती है !
  • Dussehra के वाले दिन सवा किलो जलेबी और पाँच अलग अलग तरह की मिठाई भैरव नाथ जी के मंदिर में जाकर चढ़ाये और धुप, दीपक जलाये भैरव नाथ जी अपने जीवन के संकटो को दूर करते हुए सभी क्षेत्रों में सफलता का प्रार्थना कर आशीर्वाद माँगे एसा करने बाद उनसे से थोड़ी सी जलेबी लेकर कुत्ते को खिला दें एसा करने से आपके ऊपर बुरी नज़र का प्रभाव दूर हो जायेगा और आपको अपने कार्य में सफलता भी प्राप्त होगी !

  • Dussehra के दिन श्री राम रक्षा स्रोत्र, सुन्दरकाण्ड का पाठ करना चाहिए !
  • शास्त्रनुसार मान्यता है की Dussehra के दिन नीलकंठ पक्षी का दर्शन करना अत्यंत शुभ व् लाभकारी माना जाता है इसलिए इस दिन सब जनों को नीलकंठ पक्षी को देखना चाहिए !
  • Dussehra दिन पान खाने व् श्री हनुमान जी को पान अर्पित करने से आशीर्वाद ही प्राप्ति होती हैं ! पान को प्रेम, सम्मान व् शत्रु विजय का प्रतिक माना जाता हैं !

<<< पिछला पेज पढ़ें                                                                                                                      अगला पेज पढ़ें >>>


नोट : ज्योतिष सम्बन्धित व् वास्तु सम्बन्धित समस्या से परेशान हो तो ज्योतिष आचार्य पंडित ललित त्रिवेदी पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 7821878500 ( Paid Services )

Related Post :

विजय दशमी के उपाय || Vijaya Dashami Ke Upay

शमी की पूजा का महत्व || Vijayadashami Ko Shami Ki Puja Ka Mahatv

शमी वृक्ष की पूजा विधि || Shami Vriksh Ki Puja Vidhi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *