My Blog

indiaplus.co.in

Aankhon Ki Suraksha Ke Sujhav !! Eye Protection Tips

आँखों के बचाव के सुझाव [ Eye Protection Tips ] : 

यह सब आयुर्वेदिक उपाय है आप आँखों की सही तरह से देखभाल करना चाहते हो तो दिए गए उपाय को और योग को करेंगे अपनी प्यारी सी आँखों की सुरक्षा कर सकते हो !! आगे के उपाय पढने के लिए आखिर में क्लिक हियर [ CLICK HERE ] पर क्लिक [ CLICK ] करके आप इससे आगे के इसी रोग के उपाय पढ़ सकते हो ! 
THE EYES OF ALL AYURVEDIC REMEDY YOU WANT TO GET THE RIGHT CARE MEASURES AND THE SUM WILL BE ABLE TO PROTECT HER LOVELY EYES !! CLICK HERE TO READ FURTHER MEASURES AT THE END [CLICK HERE] CLICK [CLICK] ON THIS DISEASE BY FURTHER MEASURES TO BE READ! 
  • 14. गति ही जीवन है’ इस सिद्धान्त के अनुसार हर अंग को स्वस्थ और क्रियाशील बनाये रखने के लिए उसमें हरकत होते रहना अत्यंत आवश्यक है। पलके झपकाना आँखों की सामान्य गति है। बच्चों की आँखों में सहज रूप से ही निरंतर यह गति होती रहती है। पलकें झपकाकर देखने से आँखों की क्रिया और सफाई सहज में ही हो जाती है। आँखे फाड़-फाड़कर देखने की आदत आँखों का गलत प्रयोग है। इससे आँखों में थकान और जड़ता आ जाती है। इसका दुष्परिणाम यह होता है कि हमें अच्छी तरह देखने के लिए नकली आँखें अर्थात् चश्मा लगाने की नौबत आ जाती है। चश्मे से बचने के लिए हमें बार-बार पलकों को झपकाने की आदत को अपनाना चाहिए। पलकें झपकाते रहना आँखों की रक्षा का प्राकृतिक उपाय है। 
  • 14. SPEED ​​IS LIFE, “ACCORDING TO THE PRINCIPLE OF EVERY ORGAN TO BE HEALTHY AND ACTIVE IS VERY IMPORTANT TO MAINTAIN THE SLANT. EYELASHES DROOPING EYES IS NORMAL SPEED. CHILDREN’S EYES INSTINCTIVELY KEEPS THE SPEED CONSTANT.JPAKAKR EYELIDS EYES FROM SEEING ACTION ITSELF IS COMFORTABLE AND CLEAN. EYES TEARING, RIPPING THE MISHANDLING OF THE HABIT OF WATCHING EYES. IT COMES IN EYE FATIGUE AND INERTIA. THE SIDE EFFECT IS THAT WE LOOK WELL PUT FAKE EYES WOULD HAVE LED TO THE GLASSES. TO AVOID GLASSES EYELIDS BLINK REPEATEDLY SHOULD ADOPT THE HABIT. JPAKATE EYELIDS PROTECT THE EYES OF THE NATURAL WAYS TO STAY.
    • CONTINUE READ [ लगातार पढ़े ] : आँखों की हिफाज़त [ Eye Protection ] : Click Here
Updated: April 3, 2016 — 11:31 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

My Blog © 2016 Frontier Theme