My Blog

indiaplus.co.in

Aankhon Ke Dard Ke Upay !! Eye Pain Measures

आँखों के दर्द के उपाय [ Eye Pain Measures ] : 

यह सब आयुर्वेदिक उपाय है आप आँखों की सही तरह से देखभाल करना चाहते हो तो दिए गए उपाय को और योग को करेंगे अपनी प्यारी सी आँखों की सुरक्षा कर सकते हो !! आगे के उपाय पढने के लिए आखिर में क्लिक हियर [ CLICK HERE ] पर क्लिक [ CLICK ] करके आप इससे आगे के इसी रोग के उपाय पढ़ सकते हो ! 
THE EYES OF ALL AYURVEDIC REMEDY YOU WANT TO GET THE RIGHT CARE MEASURES AND THE SUM WILL BE ABLE TO PROTECT HER LOVELY EYES !! CLICK HERE TO READ FURTHER MEASURES AT THE END [CLICK HERE] CLICK [CLICK] ON THIS DISEASE BY FURTHER MEASURES TO BE READ! 
  • 12. विद्यार्थियों को इस बात पर विशेष ध्यान देना चाहिए कि वे आँखों को चौंधिया देने वाले अत्यधिक तीव्र प्रकाश में न देखें। सूर्यग्रहण और चन्द्रग्रहण के समय सूर्य और चन्द्रमा को न देखें। कम प्रकाश में अथवा लेटे-लेटे पढ़ना भी आँखों के लिए बहुत हानिकारक है। आजकल के विद्यार्थी आमतौर पर इसी पद्धति को अपनाते हैं। बहुत कम रोशनी में अथवा अत्यधिक रोशनी में पढ़ने-लिखने अथवा नेत्रों के अन्य कार्य करने से नेत्रों पर जोर पड़ता है। इससे आँखें कमजोर हो जाती हैं और कम आयु में ही चश्मा लग जाता है। पढ़ते समय आँखों और किताब के बीच 12 इंच अथवा थोड़ी अधिक दूर रखनी चाहिए। 
  • 12. STUDENTS SHOULD PAY PARTICULAR ATTENTION TO THE FACT THAT THEY ARE HIGHLY INTENSE LIGHT BLINDED EYES TO SEE. AND NOT SEE THE LUNAR ECLIPSE WHEN THE MOON AND SUN. OR LYING DOWN, LYING DOWN READING IN LOW LIGHT IS ALSO VERY DAMAGING TO THE EYES. NOWADAYS STUDENTS USUALLY ADOPT THE SAME METHOD. IN VERY LOW LIGHT OR VERY LIGHT EYES OR OTHER ACTS OF READING AND WRITING HAS FOCUSED ON THE EYE. THIS LEADS TO WEAKENING EYES AND LOOK AT THE SPECS ARE THE SAME AGE. READING BETWEEN THE EYES AND THE BOOK SHOULD BE 12 INCHES OR A LITTLE MORE DISTANT.
    • CONTINUE READ [ लगातार पढ़े ] : आँखों की सुरक्षा के लिए आहार [ To Protect The Eyes Diet ] : Click Here
Updated: April 3, 2016 — 11:32 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

My Blog © 2016 Frontier Theme