My Blog

indiaplus.co.in

Month: September 2015

अष्ट लक्ष्मी युक्त यन्त्र ( Ashta Lakshmi Yukt Yantra )

अष्ट लक्ष्मी युक्त यन्त्र :  केबल धन को ही लक्ष्मी नहीं कहा गया हैं बल्कि इसके तो अनेको रूप हैं, और हर रूप का अपना एक अलग ही अर्थ हैं . अगर धन हैं और संतान नहीं हैं तब भी जीवन कैसे पूर्ण हुआ और दोनों हो और घर या आवास का सुख नहीं हो […]

बन्धु विद्वेषण यंत्र ( Bandhu Vidveshan Yantra )

बन्धु विद्वेषण यंत्र :  कभी कभी एक ही परिवार किसी कारणवश अपने को अकेला जानकर पीछे पड जाता है,उसके भाई बन्धु,सगे सम्बन्धी,हितू,नातेदार सभी अकेला समझ कर पीछे पड जाते है,और उस समय और भी हालत खराब हो जाती है,जब हमे किसी कारण वश बाहर रहना पडता है,और घर पर केवल बच्चे और परिवार ही रहता […]

कुबेर यंत्र ( Kubera Yantra )

धनाधीश कुबेर यंत्र :  इस मंत्र की साधना करने से पृथ्वी में छुपा खजाना, आकस्मिक धन लाभ होता है। इस पृथ्वी के अन्दर छिपी सम्पदा का स्वामी कुबेर है। पृथ्वी से हमें यदि कुछ प्राप्त करना है तो इस यंत्र की पूजा करनी चाहिए। धनाधीश कुबेर यंत्र का निर्माणः- ताम्रपत्र पर इस यंत्र को बनायें। धनाधीश […]

रोजगार प्राप्ति यंत्र ( Rojgar Prapti Yantra )

रोजगार प्राप्ति यंत्र :  इस यंत्र की साधना करने से रोजगार की प्राप्ति होती है। जो व्यक्ति इन्टरव्यू में जाने वाले हैं उन्हें इस प्रयोग को करना चाहिए। रोजगार प्राप्ति यंत्र का निर्माणः- इसे भोजपत्र में बनाया जाता है। इसे हल्दी या केसर के घोल से अनार की कलम से बनाएं। रोजगार प्राप्ति यंत्र का पूजन […]

अचानक धन प्राप्ति यंत्र ( AchaNak Dhan Prapti Yantra )

अचानक धन प्राप्ति यंत्र :  इस यंत्र की साधना करने से अचानक धन लाभ के योग बनते हैं। ऐसा कहा गया है कि एक वर्ष के भीतर ही अचानक धन लाभ होता है। अचानक धन प्राप्ति यंत्र का निर्माणः- इसका निर्माण मंगलवार को सूर्योदय के समय ही करना चाहिए। अचानक धन प्राप्ति यंत्र का पूजन […]

सास-ससुर को अनुकूल बनाने का यंत्र ( Sas Sasur Ko Anukool Banane Ka Yantra )

सास-ससुर को अनुकूल बनाने का यंत्र :  कई बार ऐसा देखा जाता है कि विवाह के पश्चात कन्या को वर तो अच्छा लगता है लेकिन सास-ससुर उसके अनुकूल नहीं होते। वे बात-बात में बहू को मानसिक रूप से प्रताड़ित करते हैं। ऐसी स्थिति में कन्या बहुत परेशान रहती है। इसका प्रभाव उसके स्वास्थ्य पर भी […]

ओम श्रीं लक्ष्मी यंत्र ( Om Shri Lakshmi Yantra )

ओम श्रीं लक्ष्मी यंत्र :  इस यंत्र को कागज पर कुमकुम, चंदन, केसर और गुलाब के इत्र से लिखकर इसके समक्ष नित्य अपनी मनोकामना दोहराने से और मंत्रजाप करने से सम्पत्ति में बढ़ोतरी होती है। मंत्र- ओम श्रीं लक्ष्मी दैव्ये नमः

लक्ष्मी प्राप्ति व व्यापारवर्धक व चौतिसा यंत्र ( Lakshmi Prapti or Vyapar Vardhak or Chautisa Yantra )

लक्ष्मी प्राप्ति व व्यापारवर्धक यंत्र चौतिसा यंत्र : इस यंत्र का चांदी पर निर्माण करके धन-त्रयोदशी के दिन कार्यस्थल में रखने से व्यापार में वृद्धि होती है। मंत्र- ओम श्रीं ह्रीं क्लीं सिद्ध लक्ष्म्यै नमः

व्यापार बर्धक यंत्र ( Vyapar Vardhak Yantra )

व्यापार बर्धक यंत्र :  इस की साधना करने से व्यापार सुचारु रुप से चलता है। व्यापारियों के लिए इसकी साधना करना अति आवश्यक है। व्यापार बर्धक यंत्र का निर्माणः- इसे किसी भी शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी को बनाना चाहिए। रात्रि के समय इसकी साधना की जाती है। यंत्र ताम्बे, चांदी, सोने में बनाया जा सकता है। […]

My Blog © 2016 Frontier Theme