एक मुखी रुद्राक्ष धारण विधि || 1 Mukhi Rudraksha Dharan Vidhi

एक मुखी रुद्राक्ष धारण विधि, 1 Mukhi Rudraksha Dharan Vidhi, एक मुखी रुद्राक्ष धारण मंत्र, 1 Mukhi Rudraksha Dharan Mantra, एक मुखी रुद्राक्ष को कैसे धारण करें, 1 Mukhi Rudraksha Ko Kaise Dharan Kare, 1 Mukhi Rudraksha Dharan Karne Ka Mantra, Kaise Kare 1 Mukhi Rudraksha Dharan.

एक मुखी रुद्राक्ष धारण विधि || 1 Mukhi Rudraksha Dharan Vidhi

हम यंहा आपको इस पोस्ट के माध्यम से एक मुखी रुद्राक्ष को धारण करने के बारे में बताने जा रहे हैं ! Online Specialist Astrologer Acharya Pandit Lalit Sharma द्वारा बताये जा रहे एक मुखी रुद्राक्ष धारण विधि || 1 Mukhi Rudraksha Dharan Vidhi को पढ़कर आप भी एक मुखी रुद्राक्ष को कैसे धारण करें इसके बारे में अधिक से अधिक जान सकोंगे !! जय श्री सीताराम !! जय श्री हनुमान !! जय श्री दुर्गा माँ !! जय श्री मेरे पूज्यनीय माता – पिता जी !! यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट ( Live Chat ) से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें Mobile & Whats app Number : 7821878500 1 Mukhi Rudraksha Dharan Vidhi by acharya pandit lalit sharma

हमारे Youtube चैनल को अभी SUBSCRIBES करें ||

मांगलिक दोष निवारण || Mangal Dosha Nivaran

दी गई YouTube Video पर क्लिक करके मांगलिक दोष के उपाय || Manglik Dosh Ke Upay बहुत आसन तरीके से सुन ओर देख सकोगें !

एक मुखी रुद्राक्ष के प्रकार || 1 mukhi rudraksha ke prakar

यह तो आप सब जानते हो की रुद्राक्ष की उत्पत्ति रूद्र देव के आंसुओं से हुई है । 1 Mukhi Rudraksha सबसे उत्तम आंवले के आकार का होता है । और छोटे बेर के आकार वाले रुद्राक्ष कों मध्य श्रेणी में आते हैं । मोती के दाने के समान छोटे आकार वाले रुद्राक्ष को निम्न श्रेणी का माना जाता है । दुनिया के सबसे उत्तम रुद्राक्ष नेपाल में पाए जाते हैं । और रुद्राक्ष भारत, मलेशिया व् इंडोनेशिया में भी पाए जाते हैं । एक मुखी रुद्राक्ष 1 mukhi rudraksha दो प्रकार के होते हैं ! एक तो काजू के समान लम्बे रुद्राक्ष और दूसरा आकार गोल होता है । 1 Mukhi Rudraksha का चार रंग के होते हैं, हल्का सफ़ेद, पीला, लाल और काला । कहा जाता है की हल्का सफ़ेद रुद्राक्ष ब्राह्मणों, पीला रुद्राक्ष क्षत्रियों, लाल रुद्राक्ष वैश्यों व् काला रुद्राक्ष शुद्रों को धारण करना चाहिए ! वैसे लाल रुद्राक्ष सभी वर्णों के लिए श्रेष्ठ है, यह 1 Mukhi Rudraksha भगवान शिव को भी अति प्रिय है ।

आपकी कुंडली के अनुसार 10 वर्ष के आसन उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) आज ही बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में अभी Mobile पर कॉल या Whats app Number पर सम्पर्क करें : 7821878500

एक मुखी रुद्राक्ष को कैसे धारण करें || 1 mukhi rudraksha ko kaise dharan kare

प्रत्येक रुद्राक्ष या रुद्राक्ष की माला को बिना सिद्ध किये धारण करने से वह पूर्ण फल प्राप्ति नही दे पाता हैं ! इसलिए हमें प्रत्येक रुद्राक्ष या रुद्राक्ष की माला सिद्ध करके या किसी योग्य ब्रहामण सिद्ध करवाकर ही धारण करना चाहिए !

1 Mukhi Rudraksha की माला या 1 Mukhi Rudraksha, जो भी आप धारण करना चाहते हैं, उसें शुक्ल पक्ष के किसी भी भी सोमवार के दिन धारण कर सकते हैं । सर्वप्रथम रुद्राक्ष को गौमूत्र, दही, शहद, कच्चे दूध और गंगाजल से स्नान करके शुद्ध करना चाहिए ! यह सब क्रिया करते हुए भगवान शिव जी पंचाक्षर मंत्र “ॐ नमः शिवाय” का जाप करना चाहिए ! शुद्ध करके इस चंदन, बिल्वपत्र, लालपुष्प अर्पित करें तथा धूप, दीप दिखाकर दिए गये नीचे मन्त्रों में से कोई एक सवा लाख जाप करके एक मुखी रुद्राक्ष सिद्ध कर ले ! उसके बाद रुद्राक्ष को शिवलिंग से स्पर्श कराकर पूर्व या उत्तर की ओर मुख करके मंत्र जाप करते हुए 1 Mukhi Rudraksha धारण करें ।

यदि आपके जीवन में भी किसी भी तरह की परेशानी आ रही हो तो अभी ज्योतिष आचार्य पंडित ललित ब्राह्मण पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 7821878500 ( Paid Services )

एक मुखी रुद्राक्ष धारण करने का मंत्र || 1 Mukhi Rudraksha Dharan Karne Ka Mantra

विनियोग –

ॐ अस्य श्रीं शिव मन्त्रस्य प्रसाद ऋषि: पंक्ति छन्द: शिवों देवता हंकारो बीजम् औं शक्ति: मम चतुर्वर्गसिदयर्थे रुद्राक्षधारणार्थे जपे विनियोग: ।

ध्यानम् –

मुक्तापीनपयोदमौक्तिकजपार्णैर्मुखै: पंचभि: ।

स्त्र्यक्षै राजितमीशमिन्दुमुकुटं पूर्णेन्दुकोटिप्रभम् ॥

शूलंटंककृपाणवज्र  दहनान्नागेन्द्रघंटाशुकं ।

हस्ताजेष्वभयं वरांश्चदधतं तेजोज्ज्वलं चिन्तये ॥

एक मुखी रुद्राक्ष धारण मंत्र : 1 mukhi rudraksha dharan mantra

॥ ॐ ऐं ह्रं औं ऐं ॐ ॥ ॥ Om Aim Hrm Oum Aim Om ॥

॥ ॐ नमः ह्रीम ॥

॥ ॐ नमः शिवाय ॥

<<< पिछला पेज पढ़ें                                                                                                                      अगला पेज पढ़ें >>>

जन्मकुंडली सम्बन्धित, ज्योतिष सम्बन्धित व् वास्तु सम्बन्धित समस्या के लिए कॉल करें Mobile & Whats app Number : 7821878500

किसी भी तरह का यंत्र या रत्न प्राप्ति के लिए कॉल करें Mobile & Whats app Number : 7821878500

बिना फोड़ फोड़ के अपने मकान व् व्यापार स्थल का वास्तु कराने के लिए कॉल करें Mobile & Whats app Number : 7821878500


Related Post : 

राशि के अनुसार रुद्राक्ष ( Rashi Ke Anusar Rudraksha ) Rashi Ke Anusar Dharan Kare Rudraksha

असली रुद्राक्ष की पहचान कैसे करें ( Asli Rudraksh Ki Pehchan Kaise Kare ) Asli Rudraksh Ki Pehchan Bataye

रुद्राक्ष धारण करने के नियम ( Rudraksha Dharan Karne Ke Niyam ) Rudraksha Dharan Karne Ki Vidhi

कौन सा रुद्राक्ष पहने ( Konsa Rudraksha Pahne ) Vyavsay Ke Anusar Konsa Rudraksh Pahne

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : 7821878500

ऑनलाइन पूजा पाठ ( Online Puja Path ) व् वैदिक मंत्र ( Vaidik Mantra ) का जाप कराने के लिए संपर्क करें Mobile & Whats app Number : 7821878500

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *